logo

जंगल की आग में झुलसी महिला ने सुशीला तिवारी में तोड़ा दम, मौतों का आंकड़ा हुआ तीन

खबर शेयर करें -

अल्मोडा के स्यूनराकोट के जंगल में गुरुवार को लगी भीषण आग में झुलसे तीन लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। दो लीसा श्रमिकों का कल रात निधन हो गया था। वहीं सुशीला तिवारी रेफर की गई दो में से एक महिला ने भी आज दम तोड़ दिया।

उल्लेखनीय है कि जंगल में लीसा निकालने के काम में कुछ नेपाली श्रमिक लगे हुए थे। साथ में उनकी पत्नियां भी मदद कर रही थीं। वे गत दिवस अचानक तेज लपटों के बीच घिर गए। आग बुझाने का प्रयास करते करते हुए दो श्रमिकों की मौत हो गई। वहीं इनकी पत्नियां भी गंभीर रूप से झुलस गई थीं।

पहले सभी को उपचार के लिए अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के बेस परिसर में भर्ती कराया गया। जहां एक को मृत घोषित कर दिया गया था। वहीं अन्य को सुशीला तिवारी हल्द्वानी रेफर किया गया। इस बीच एक अन्य श्रमिक ने भी दम तोड़ दिया था।

यह भी पढ़ें 👉  काली नदी में गिरा वाहन,महिला की मौत, पूर्ति निरीक्षक सहित दो लोग लापता

बेस अस्पताल के सीएमएस डॉ अशोक ने बताया कि अस्पताल में आग से झुलसे हुए तीन लोगों को लाया गया था। दीपक बहादुर की पहले ही मौत हो गई थी। घायलों में शामिल लोग करीब 90 प्रतिशत से अधिक जल चुके थे। प्राथमिक उपचार के बाद इन्हें हल्द्वानी रेफर किया गया। वहीं इलाज के दौरान एक अन्य लीसा श्रमिक ज्ञानेश ने भी दम तोड़ दिया था। तारा और पूजा को प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर हल्द्वानी भेजा गया।

यह भी पढ़ें 👉  बागेश्वर का मयूँ गांव बनेगा पीपल - वट विवाह का गवाह

डीएफओ दीपक कुमार ने बताया कि उनकी जिलाधिकारी से इस मामले को लेकर वार्ता हुई है। मृतकों को चार—चार लाख का मुआवजा दिया जायेगा। घायलों के उपचार का पूरा खर्च वन विभाग वहन करेगा।

यह भी पढ़ें 👉  एसओजी टीम ने 908 ग्राम चरस के साथ तीन अभियुक्तों को किया गिरफ्तार
Share on whatsapp