logo

उत्तराखंड की उप्रेती बहनों ने जी- 20 में बिखेरा सुरो का जादू, लोकगीतों से बांधा समां, समिट में प्रस्तुति से गांव में खुशी की लहर

खबर शेयर करें -
  • जनकवि व रंगकर्मी जनार्दन उप्रेती ने कहा दोनों बहनें हमारी गौरव
    -लोक संस्कृति व परंपराओं को राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आगे बढ़ाया

    जी- 20 समिट में हुड़ेती की ज्योति व नीरजा उप्रेती की लोक संस्कृति पर आधारित प्रस्तुति से उनके गांव में खुशी की लहर है। लोगों ने इस शानदार सफलता के लिए उन्हें बधाई दी।
    शनिवार को यहां उनके गांव में जी-20 समिट में उनकी प्रस्तुति के बाद लोगों ने कहा कि दोनों बहनों ने राष्ट्रीय व अंतर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी शानदार प्रस्तुति से गांव के साथ ही जनपद का नाम रोशन किया है। जनकवि व प्रसिद्ध रंगकर्मी जनार्दन उप्रेती ने कहा दोनों बहनें हमारी संस्कृति को आगे बढ़ाने में अपना योगदान लंबे समय से देती आ रही हैं। एक छोटे से गांव से निकलकर अंतरराष्ट्रीय मंच पर अपनी प्रस्तुति देकर वे हमारी लोक संस्कृति व परंपरा को आगे बढ़ाने का काम कर रही हैं। कहा कि दोनों बहनें नई पीढ़ी के लिए प्रेरणास्रोत हैं। यहां दोनों बहनों की सफलता व शानदार प्रस्तुति के बाद उनके पिता ललित मोहन उप्रेती को भी कई लोगों ने बधाई दी है। लोक संस्कृति पर आधारित लोक गीतों की वे लंबे समय से प्रस्तुति देती आ रही हैं। हुड़ेती के श्याम सुंदर उप्रेती ने भी दोनों बहनों को इस सफलता पर बधाई दी है। इधर रंगकर्मी हेमराज बिष्ट ने दोनों बहनों की इस सफलता पर बधाई दी है। दोनों बहनें अपनी गायिकी से विलुप्त हो रही उत्तराखंड के पारंपरिक लोकगीतों को पुनर्जीवित कर उनका संरक्षण करने का प्रयास कर रही हैं।
यह भी पढ़ें 👉  जिला अस्पताल बागेश्वर में विश्व नर्सिग डे धूमधाम से मनाया,फ्लोरेंस नाइटिंगेल के कार्यों को भी किया याद
Share on whatsapp