logo

बन्द कमरे में अँगीठी जलाने से दो की मौत

खबर शेयर करें -

डालकन्या के पनखाल तोक में बुधवार की रात एक ही परिवार के दो लोगों की मौत हो गयी, इस घटना का कारण बताया जा रहा है कि शंकर राम आर्या के पुत्र गिरीश आर्या की 26 वर्षीय पत्नी बिश्नी देवी और 14 वर्षीय पुत्री ममता रात क़रीब 8 बजे अलग कमरे में सोने गए थे ठंड से बचने के के लिए उन्होंने कमरे अँगीठी में आग जला रखी थी जिसमें खिड़की नहीं थी कमरा बन्द होने के कारण धुंआ कमरे से बाहर पास नहीं हुआ ।

यह भी पढ़ें 👉  रबड़ की ट्यूबों में 230 लीटर शराब के दो लोगो को पुलिस ने किया गिरफ्तार


वही जानकरी के मुताबिक बताया जा रहा है कि पिछली रात उनके घर में जागर थी अगले दिन का कामकाज कर रात 8 बजे बिश्नी देवी और ममता कमरे में सोने चले गए वही बिश्नी देवी की 1 वर्षीय बेटी है

यह भी पढ़ें 👉  राजनैतिक दलों की मौजूदगी में स्ट्रांग रूम सील,सीसीटीवी की भी रहेगी निगरानी

बताया जा रहा की बिश्नी देवी की 1 वर्षीय बेटी उस दिन अपने दादा शंकर राम आर्या के पास सोयी थी, बुधवार करीब रात 10 बजे बच्ची को भूख़ लगी तो वह रोने लगी और उसके दादा उसे दूध पिलाने अपनी बहू बिश्नी देवी के कमरे में गये दरवाज़ा खटखटाने के बाद अंदर से कोई ज़बाब न मिलने पर उन्होंने दरवाज़ा जैसे तैसे खोला और जब अंदर देखा तो बन्द कमरे में अँगीठी में आग जल रही थी और बहू बिश्नी देवी और बेटी ममता का धुँए से दम घुट चुका था ।

यह भी पढ़ें 👉  बागेश्वर में 54.16 प्रतिशत हुआ मतदान, मटियोली बूथ पर नहीं पढ़े वोट, लौटने लगी पोलिंग पार्टियां
Share on whatsapp