logo

पुलिस ने रोकी बॉबी पवार की पत्रकार वार्ता, पुलिस के आरोपों को बताया निराधार

खबर शेयर करें -
  • बेरोजगार संगठन को बदनाम करने की न करे कोशिश
  • बागेश्वर पुलिस के आरोपों को बताया निराधार

  • बेरोजगार संगठन के अध्यक्ष बॉबी पंवार को पत्रकार वार्ता से रोका गया, लेकिन उन्होंने प्रेस विज्ञप्ति व बाइट देकर अपने संगठन की बात की है। उन्होंने कहा कि बागेश्वर में शुक्रवार को नारे लगाए गए। नारे किसने लगाए इसकी जांच होनी चाहिए। पुलिस नुमाईशखेत के पास लगे सीसीटीबी खंगाले तो स्पष्ट हो जाएगा कि नारे किसने लगाए। उनके संगठन को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। उन पर लगाए गए सारे आरोप निराधार हैं।

  • बॉबी ने बताया कि वह हर जिले में जाकर संगठन की बात कर रहे हैं। देहरादून में में मंत्री व विधायक उन्हें एक साथ नहीं मिल पाते हैं। इन दिनों बागेश्वर में सभी मंत्री पहुंचे हैं। उनके सामने अपनी बात रखने वह यहां आए। इसके लिए उन्होंने डीएम बागेश्वर व मंडलायुक्त को पत्र भी दिया था। शुक्रवार को वह बागनाथ मंदिर जा रहे थे। मंदिर जाने से पहले ही उन्हें रोक दिया और गिरफ्तार किया। न्यायालय ने जब पुलिस से अपराध पूछा तो पुलिस ने झूठी कहानी गढ़ दी। न्यायालय ने उन्हें बगैर शर्त रिहा कर दिया। शनिवार को उन्हें प्रेस वार्ता करने से रोका गया। जो लोकतंत्र की हत्या के अलावा कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि व भर्ती घोटाले की सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं और करते आएंगे। देहरादून में उनका आंदोलन 180 दिनो से चल रहा है। वह हर जिले में जाकर आंदोलन को लेकर लोगों को जागरूक कर रहे हैं और करते रहेंगे। उन्होंने कहा की उनके द्वारा केवल सीबीआई जांच की बात कही गई थी। जिससे सरकार बच रही है। साथ ही उन्होंने कहा की सरकार से इसकी लेकर मान्यता किसी मांगी जाती है। सरकार किसी की भी हो मांग यही रहेगी।
यह भी पढ़ें 👉  पंतनगर एयरपोर्ट को बम से उड़ाने की मिली धमकी
Share on whatsapp