logo

ब्रेकिंग: जंगल की आग की तरह चपेट में आने से चार वन कर्मियों की मौत, सीएम धामी ने घटना पर जताया दुख

खबर शेयर करें -

जंगल की आग एक बार फिर जानलेवा साबित हुई है।
अल्मोड़ा बिन्सर वन्यजीव विहार में वनाग्नि की चपेट में आने से चार वनकर्मियों की मृत्यु हो गई है। हादसे में चार लोग गंभीर रूप से झुलस गए हैं। आग से वाहन जलकर खाक हो गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गहरा दुःख प्रकट किया है।

सीएम धामी ने कहा कि यह घटना बेहद हृदयविदारक है और दुःख की इस घड़ी में पूरी उत्तराखण्ड सरकार वनकर्मियों के परिजनों के साथ खड़ी है। उन्होंने इस घटना में झुलसे चार अन्य वनकर्मियों को तत्काल हल्द्वानी बेस अस्पताल में एयरलिफ्ट किये जाने व गंभीर रूप से घायलों को यथोचित उपचार के लिए हल्द्वानी से एम्स ऋषिकेश एयरलिफ्ट करने और मृतकों के परिजनों को 10 लाख रुपए की अनुग्रह धनराशि दिए जाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री के विशेष सचिव पराग मधुकर धकाते ने बताया कि घटना पर शासन पूरी नजर रखे हुए है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर घायलों को एयरलिफ्ट कर हल्द्वानी अस्पताल लाया जा रहा है। साथ ही मृतकों का आज ही पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है ।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊ आयुक्त और डीआईजी ने खटीमा में जलभराव क्षेत्र का किया निरीक्षण

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, बिनसर के जंगल में गुरुवार दोपहर करीब दोपहर ढाई बजे आठ कर्मचारी आग बुझाने गए थे। आग सड़क से नीचे लगी हुई थी। टीम को आग बुझाने के लिए ढलान से नीचे जाना पड़ा। इसी दौरान आग ने विकराल रूप ले लिया। पहाड़ पर तीखी चढ़ाई होने की वजह से वन कर्मी ऊपर नहीं पहुंच सके और वे आग की चपेट में आ गए। आग की चपेट में आने बाद चार वन कर्मियों की जिंदा जलकर मौत हो गई। वन कर्मियों की मदद को चीख-पुकार सुनकर ग्रामीण मदद करने को दौड़ पड़े थे। ग्रामीणों ने कड़ी मेहनत के बाद जंगल की आग की लपटों में फंसे चार वनकर्मियों को बमुश्किल सुरक्षित बाहर निकाल।

यह भी पढ़ें 👉  युवती से दुष्कर्म के आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

हादसे के मृतकों में त्रिलोक सिंह मेहता पुत्र नारायण सिंह, वन बीट अधिकारी बिंसर रेंज, सिविल एवं सोयम वन प्रभाग अल्मोड़ा, निवासी उडलगांव बाड़ेछीना, दीवान राम 35 साल पुत्र पदी राम, दैनिक श्रमिक, निवासी ग्राम सौड़ा, कपड़खान, अल्मोड़ा, करन आर्या 21 साल पुत्र विशन राम, फायर वाचर और पूरन सिंह 50 साल पुत्र दीवान सिंह, पीआरडी जवान, निवासी ग्राम कलौन, अल्मोड़ा बताए जा रहे हैं। जबकि घायलों के नाम कृष्ण कुमार 21 वर्ष पुत्र नारायण राम, फायर वाचर, ग्राम भेटुली, अयारपानी, अल्मोड़ा, कुंदन सिंह नेगी 44 साल पुत्र प्रताप नेगी, पीआरडी जवान, ग्राम खांखरी, भगवत सिंह भोज 38 साल पुत्र बची सिंह, वाहन चालक, ग्राम भेटुली, अयारपानी, कैलाश भट्ट 54 साल पुत्र बद्रीदत्त भट्ट, दैनिक श्रमिक, ग्राम धनेली, अल्मोड़ा बताए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  कांग्रेस ने प्रदेश सरकार का किया पुतला दहन, लोकतंत्र की हत्या का लगाया आरोप
Share on whatsapp