logo

मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. वी षणमुगम ने नोडल अधिकारियों के साथ की बैठक

खबर शेयर करें -

मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. वी षणमुगम ने नोडल अधिकारियों के साथ बैठक कर उप निर्वाचन कार्यो की की जानकारी ली। उन्होंने कहा निर्वाचन के दौरान सभी अधिकारी भारत निर्वाचन आयोग के अंतर्गत आ जाते है, इसलिए निर्वाचन कार्यो को प्राथमिकता से करते हुए दायित्वों का निर्वहन करें। उन्होंने मतदाता सामग्री की जानकारी लेते हुए नोडल अधिकारी सामग्री को सभी प्रकार की सामग्री बस्ते में डालने के साथ ही सामग्री सूची मिलान कर बस्ते में डालने को कहा, ताकि मतदान टीम भी प्रस्थान से पूर्व सूची से सामग्री का मिलान कर सके। उन्होंने मतदाता वाहन संरचरण की विस्तृत जानकारी लेते हुए कहा कि वर्षाकाल चल रहा है, इसलिए अधिक से अधिक मतदान टीमों को छोटे वाहनों से बूथ तक भेजा जाय, साथ ही भू-स्खलन सडक मार्गो को पहले ही चिन्हित कर वहां पर सडक वैकल्पिक व्यवस्था के साथ ही शीघ्र अति शीघ्र बंद सड़क खोलने को जेसीबी तैनात करने के निर्देश दिए। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने ईवीएम, मतदान कार्मिक व माइक्रो आब्जर्वर रेंडमाईजेशन की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि विधानसभा में कुल मतदान बूथों का 50 प्रतिशत बूथों पर वेबकास्टिंग होनी है, इसके लिए पूर्ण तैयारियां सुनिश्चित कर ली जाय, साथ ही नेट कनेक्टिविटी का सर्वे करते हुए ड्राइरन भी कर लिया जाय। उन्होंने एसएसटी, एफएसटी, वीवीटी व एलएमटी, टीमों को सक्रिय करने के निर्देश देते हुए निर्वाचन व्यय व अवैध शराब संरचरण पर पैनी निगरानी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पुलिस व एलएमटी (लिकर मॉनिटरिंग टीम) अपने-अपने द्वारा पकडी गयी मदिरा एवं उसकी सूचना नोडल अधिकारी एवं कंट्रोल रूम को देना सुनिश्चित करें। उन्होंने मदिरा की दुकानों एवं मदिरा बार स्टॉक का भी नियमित सत्यापन कराने के निर्देश दिए। उन्होंने मार्डन बूथ एवं सखी बूथ में आयोग के मानकों के अनुसार व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। साथ ही 80 वर्ष से अधिक व दिव्यांग वोटरों के लिए भी उनकी दिव्यांगता का चिन्हिकरण करते हुए मतदान के लिए व्यवस्थायें करने के निर्देश दिए। उन्होंने वोट प्रतिशत बढाने के लिए स्वीप के तहत मतदाता जागरूकता कार्यक्रम गांवों तक करने के साथ ही विगत निर्वाचन में कम वोट प्रतिशत वाले बूथों का चिन्हितकरण कर उनमें भी विशेष मतदाता जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए। जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराधा पाल ने बताया कि निर्वाचन के लिए पर्याप्त ईवीएम व वीवीपैट उपलब्ध है, जिनका प्रथम रेंडमाईजेशन किया जा चुका है। इसके साथ ही मतदान कार्मिकों का प्रथम रेंडमाईजेशन कर उन्हें प्रथम प्रशिक्षण भी दे दिया गया है। द्वितीय प्रशिक्षण 23 व 24 अगस्त को दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि मतदान सामग्री के 250 बैग तैयार किए जा रहे है, साथ ही वेबकास्टिंग के लिए 94 बूथों का चिन्हिकरण कर सर्वे भी कर लिया गया है। पुलिस अधीक्षक अक्षय कोंडे ने शस्त्र जमा, सुरक्षा कर्मियों की मांग आदि की जानकारियां दी। बैठक में संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रताप शाह, मनमोहन मैनाली, अपर जिलाधिकारी सीएस इमलाल, मुख्य विकास अधिकारी आरसी तिवारी, रिटर्निंग ऑफिसर हरगिरि, उप जिलाधिकारी राजकुमार पांडे मोनिका, परियोजना निदेशक शिल्पी पंत, जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. हरीश पोखरिया, नोडल खानपान मनोज बर्मन समेत सभी नोडल अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें 👉  अजीम प्रेमजी फाउंडेशन द्वारा जिला चिकित्सालय में रेडक्रास के सहयोग से रक्तदान शिविर का किया आयोजन
Share on whatsapp