logo

विधानसभा उपचुनाव के एलान के साथ ही जोनल और सेक्टर मजिस्ट्रेट को दिया गया पहला प्रशिक्षण

खबर शेयर करें -

निर्वाचन आयोग द्वारा बागेश्वर विधानसभा (अ.जा.) उप निर्वाचन की तारीखों का ऐलान करते ही निर्वाचन के सफल संचालन को गठित विभिन्न टीमों के साथ ही जोनल व सैक्टर मजिस्टे्रट को विकास भवन सभागार में प्रशिक्षण दिया गया। बुधवार को विकास भवन में एमसीसी, वीवीटी, वीएसटी, एसएसटी, एमसीएमसी व एफएसटी टीमों के साथ ही जोनल व सैक्टर मजिस्टे्रट को प्रशिक्षण दौरान उनके दायित्व से भिज्ञ कराया गया। मास्टर ट्रेनरों द्वारा प्रशिक्षण देते हुए टीमों को उनकी जिम्मेदारी से अवगत करते हुए उप निर्वाचन को शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष संपन्न कराने को कहा गया। प्रशिक्षण में जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराधा पाल ने कहा कि आदर्श आचार संहिता लागू हो चुकी है, इसलिए सभी जोनल व सैक्टर मजिस्टे्रट निर्वाचन आयोग की गार्इडलाइन को पडे तथा उसके अनुसार अपने-अपने क्षेत्रों के बूथों का निरीक्षण कर मूलभूत सुविधायें विद्युत, पानी, रैंप, शौचालय के साथ ही पहुंच मार्ग व अन्य व्यवस्थायें सुनिश्चित कराते हुए बूथों की वर्नबिलिटी आचार संहिता अनुपालन, स्वीप व अन्य कार्यक्रमों में नजर रखते हुए सूचना आंख्या प्रपत्रों में आरओ व जिला निर्वाचन अधिकारी को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। इससे पूर्व आदर्श आचार संहिता (एमसीसी) के नोडल परियोजना निदेशक शिल्पी पंत ने टीम को सार्वजनिक संपत्ति, सार्वजनिक स्थानों, नगर निकायों के भवनों आदि में भित्ति,लेखन, वॉल राइटिंग, पोस्टर व किसी विरूपण के पर्चे कटआउट /होल्डिंग, बैनर, झण्डे सभी अनाधिकृत राजनैतिक विज्ञापनों को आयोग द्वारा निर्वाचन कार्यक्रम की घोषणा होती ही हटाने, सरकारी वाहनों का दुरुपयोग रोकने आदि के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गयी। व्यय अनुवीक्षण के नोडल कोषाधिकारी इन्द्र सिंह द्वारा उप निर्वाचन की घोषणा के बाद उड़नदस्ता, एफएसटी, वीडियो टीम, शराब, नकदी/निषिद्ध नशीले पदार्थ के लिए गहन जांच व आबकारी विभाग के उड़नदस्ते को उनकी दायित्व के बारे में बताया गया। मीडिया प्रमाणन एवं अनुवीक्षण समिति (एमसीएमसी) के नोडल जिला सूचना अधिकारी गोविंद सिंह बिष्ट द्वारा निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित प्राविधानों की जानकारी देते हुए राजनीतिक दलों द्वारा मीडिया में विज्ञापनों के पूर्व प्रमाणन के लिए समिति से अनुमति देने संबंधी जानकारियां दी गयी। इस दौरान इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी आरसी तिवारी व रिटर्निंग अॉफिसर हरगिरी ने कहा सभी टीमें अपने-अपने कार्यस्थल पर तैनात रहना सुनिश्चित करेंगे तथा दायित्वों का निर्वहन पूरी निष्ठा एवं र्इमानदारी से करने को कहा। इस दौरान अधिकारियों व कर्मचारियों को र्इवीएम का हैंड्सअॉन प्रशिक्षण भी दिया गया। प्रशिक्षण में जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या, तहसीलदार दीपिका आर्य, तितिक्षा जोशी समेत मास्टर ट्रेनर व विभिन्न टीमों में तैनात अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें 👉  केदारनाथ में वीआईपी दर्शन का तीर्थ पुरोहितों ने किया विरोध, सभी के लिए समान व्यवस्था की करी मांग
Share on whatsapp