logo

महिला आरक्षण बिल आधी आबादी के पक्ष में एक ऐतिहासिक फैसला : हनी पाठक

खबर शेयर करें -

बीजेपी की प्रदेश प्रवक्ता हनी पाठक ने केंद्रीय कैबिनेट द्वारा महिला आरक्षण बिल को मंजूरी देने और इसे लोकसभा में पेश करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत पूरी कैबिनेट का आभार व्यक्त किया है।
हनी पाठक ने इसे आधी आबादी के पक्ष में एक ऐतिहासिक फैसला करार देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने हमेशा से नारी शक्ति का सम्मान किया है।उज्ज्वला योजना हो, घरेलू गैस सिलेंडर के दाम दो सौ रुपए तक कम करने की बात हो, इससे मात्र शक्ति को बड़ी राहत मिली है।

यह भी पढ़ें 👉  पोलिंग बूथ के अंदर ईवीएम मशीन की वीडियो बनाना युवक को पड़ा भारी

उन्होंने कहा कि लोकसभा और विधानसभाओं में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण मिलने के फैसले के बाद पूरी तस्वीर बदलने वाली है। महिलाएं अब राजनीतिक तौर पर भी सशक्त होंगी।

33 फीसदी आरक्षण मिलने से जहां देश के सर्वोच्च सदन में महिलाओं के लिए 181 सीटें आरक्षित हो जाएंगी, वहीं उत्तराखंड जैसे छोटे राज्य में भी 70 में से 23 सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित हो जाएंगी। उन्होंने कहा कि देश की आज़ादी के अमृत काल में प्रधानमंत्री द्वारा लिए गए इस ऐतिहासिक फैसले से पूरे देश की महिलाओं में आत्मा सम्मान और आत्म विश्वास का भाव पैदा होगा।
हनी पाठक ने कहा कि उत्तराखंड की धरती सशक्त मातृशक्ति की पहचान रही है। ऐतिहासिक चिपको आंदोलन की इस धरती में महिलाओं ने हमेशा से आगे बढ़चढ़ कर भाग लिया है। उत्तराखंड राज्य आन्दोलन इसका एक ज्वलंत उदाहरण है। अब लोकसभा और विधानसभाओं में भी महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण दिए जाने से मातृशक्ति को और बल मिला है।

यह भी पढ़ें 👉  रबड़ की ट्यूबों में 230 लीटर शराब के दो लोगो को पुलिस ने किया गिरफ्तार

हनी पाठक ने कहा कि बीजेपी सरकार ने हमेशा मातृशक्ति का सम्मान किया है। हमारी राज्य सरकार ने भी सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण देकर इस बात को सिद्ध किया है

यह भी पढ़ें 👉  आज शाम से 19 अप्रैल तक जिले की सीमाओं पर रहेगी नाकेबंदी
Share on whatsapp