logo

विजिलेंस टीम ने अमीन और अनुसेवक को दस हजार की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

खबर शेयर करें -

हरिद्वार जिले के लक्सर तहसील में तैनात अमीन और उसके अनुसेवक को 10 हजार की रिश्वत लेते हुए विजिलेंस टीम ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया।

शिकायतकर्ता ने सतर्कता अधिष्ठान के ट्रोल फ्री नम्बर 1064 पर शिकायत अंकित करायी कि उसने अपने नाम के टेम्पो ट्रेवलर व अपनी पत्नी नाम से मिनी बस ली थी, जिसको करीब 3-4 साल पहले बेच दिया था तथा बेचने सम्बन्धी कागजात गलती से आग में जल जाने के कारण नष्ट हो गये थे, जिस कारण इन वाहनों किसको बेचा जिसकी जानकारी उसे नहीं थी।

यह भी पढ़ें 👉  राज्य में अवैध खनन पर लगाम लगाने के लिए बड़ा फैसला

इन दोनो वाहनो की वसूली के सम्बन्ध में जारी आरसी को परिवहन विभाग को वापस करने व जेल भेजने से बचाने के एवज में संग्रह अमीन रवि पाल ने रिश्वत की माँग थी।

शिकायतकर्ता रिश्वत नहीं देना चाहता था, तथा भ्रष्ट कर्मचारी के खिलाफ कानूनी कार्यवाही चाहता था । शिकायत पर सतर्कता अधिष्ठान सैक्टर देहरादून ने जाँच प्रथम दृष्टया सही पाये जाने पर तत्काल ट्रैप टीम का गठन किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  चंपावत में युवक में माँ सहित तीन लोगों पर चाकू से किया हमला,खुद भी हुआ गंभीर घायल हुई मौत

गठित टीम ने कार्रवाई करते हुए शुक्रवार को रवि पाल हाल संग्रह अमीन तहसील लक्सर व पदम प्रकाश अनुसेवक तहसील लक्सर जनपद हरिद्वार को दस हजार की रिश्वत लेते हुये बालावाली तिराहा कस्बा लक्सर जनपद हरिद्वार से रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

यह भी पढ़ें 👉  आपदा मद में ₹13 करोड़ की दूसरी किश्त जारी, जिलाधिकारियों को पुलियाओं, पेयजल लाइनों, सिंचाई नहरों की मरम्मत के निर्देश
Share on whatsapp