logo

सपा प्रदेश प्रभारी ने दो दर्जन से अधिक लोगो को दिलाई पार्टी की सदस्यता

खबर शेयर करें -

समाजवादी पार्टी के उत्तराखण्ड प्रभारी हाजी अब्दुल मतीन सिद्दीक़ी ने बागेश्वर विधानसभा उपचुनाव में जनसम्पर्क करते हुये बताया कि सपा प्रत्याशी भगवती प्रसाद त्रिकोटी को बहुत अच्छा जन समर्थन मिल रहा है।श्री सिद्दीक़ी के जनसम्पर्क के दोरान ग्राम भोरना नागर में दो दर्जन से अधिक लोग सपा में शामिल हूए। श्री सिद्दीक़ी ने उन्हे सपा के झण्डे देकर व सपाईं टोपी पहना कर स्वागत किया। श्री सिद्दीक़ी ने कहा यहाँ की जनता भाजपा व कॉंग्रेस दोनों ही सरकारों के झूठे वादों व काग़ज़ी विकास और जुमलेबाज़ी से तंग आचुकी है।अब यहाँ की जनता तीसरे विकल्प के रूप में समाजवादी पार्टी की ओर देख रही हैं।क्योंकि जनता भी अब भलीभाँति समझ गई है कि समाजवादी पार्टी ही उत्तराखण्ड का सही विकास कर सकती है । सपा के पूर्व अध्यक्ष स्व० माo मुलायम सिंह यादव जी ने उत्तराखण्ड राज्य बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। इसी के साथ ही उत्तराखण्ड के विकास और युवाओं के रोज़गार के लिये कोशिक समिति एवं बर्थवाल कमेटी का गठन करके पूरे उत्तराखण्ड का सर्वे कराकर रिर्पोट तैयार कराई थी।माo मुलायम सिंह यादव जी के ही कार्यकाल में ही पिथौरागढ़ हवाई पट्टी के साथ-साथ उत्तराखण्ड के अधिकांश ग्रामीण इलाकों में प्राइमरी व जूनियर हाई स्कूलों के साथ-साथ अस्पतालों व पानी के हैंड पम्पों का निर्माण कराया । जबकि वर्तमान में बागेश्वर विधानसभा वासी पीने के पानी अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी के साथ-साथ दवाईयों का अभाव व अन्य सुविधाओं से भी वंचित हैं।वहीं दूसरी ओर सफ़ाई व्यवस्था सीवर लाइन ,अघोषित विद्युत कटौती , बड़ती हुई बेतहाशा महंगाई ,बेरोज़गारी,और भ्रष्टाचार से भी यहाँ की जनता तंग आ चुकी है। श्री सिद्दीक़ी ने कहा कि अब उत्तराखण्ड की जनता समाजवादी पार्टी नीतियों एवं विचारों के साथ ही समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष माo अखिलेश यादव जी के अनुभव व विचारों से प्रभावित होकर समाजवादी पार्टी से भारी संख्या में जुड़ रही है।श्री सिद्दीक़ी ने कहा की उत्तराखण्ड राज्य को बने लग-भग २३ वर्ष पूरे होने वाले हैं। लेकिन अभी तक स्थाई राजधानी का झगड़ा चल रहा है। जबकि कोशिक समिति की रिपोर्ट में पहले ही गैरसैंड को राजधानी बनाने का प्रस्ताव रखा गया था।श्री सिद्दीक़ी ने कहा यदि आज भी वर्तमान सरकार कोशिक समिति की रिपोर्टों के आधार पर चले तो प्रदेश की अधिकांश समस्याओं का निराकरण हो सकता है और उत्तराखण्ड देश का नम्बर वन प्रदेश बन सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  बंदर भगाओ खेती बचाओ जन अभियान संचालन समिति वन मंत्री के बयान की करी निंदा
Share on whatsapp