logo

सत्संग में भगदड़ मचने से 50 से अधिक की मौत,कई घायल, शंकराचार्य ने हादसे पर दुख जताते हुए कहा कि बिना तैयारी के आयोजन करने वालों पर हो सख्त कार्यवाही

खबर शेयर करें -

उत्तर प्रदेश के हाथरस में बड़ा हादसा हुआ है। यहां सिकंदराराऊ क्षेत्र के गांव फुलराई, मुगल गढ़ी में मंगलवार को भोले बाबा प्रवचन के दौरान मची भगदड़ में 50 से अधिक लोगों की मौत हो गई है। मरने वालों में ज्यादातर महिलाएं शामिल है। वहीं घायल महिलाओं और बच्चों को इलाज के लिए एट मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।

हाथरस में हुए दर्दनाक हादसे का सीएम योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लिया है। उन्होंने मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। सीएम योगी ने अधिकारियों को फ़ौरन घटनास्थल पर जाकर जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने सभी घायलों के समुचित उपचार के निर्देश दिए हैं। वहीं मिली जानकारी के अनुसार शवों के अस्पताल पहुँचने में और इजाफा होने की सम्भावना है।

यह भी पढ़ें 👉  सिंगल युज प्लास्टिक का प्रयोग और गंदगी पर लगाया जुर्माना

प्रत्यक्षदर्शीयो ने बताया, “हम सत्संग में गए हुए थे, वहां पर बहुत सारी भीड़ थी, रास्ता बिल्कुल जाम था, निकलने के लिए बिल्कुल जगह नहीं थी। मैं और मेरी मम्मी खेत की तरफ से निकल रहे थे तभी जगह नहीं होने के चलते धक्कामुक्की हो गई। इनमें से कई लोगों की मौत हो गई जबकि कई की हालत गंभीर है। एक-दूसरे को लोग धक्का दे रहे थे। सत्संग खत्म होने के बाद ऐसा हुआ, हर कोई बाहर निकलना चाहता था।”

यह भी पढ़ें 👉  खंड शिक्षा अधिकारी को विजिलेंस टीम ने रिश्वत लेते रंगे हाथ किया गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई घटना पर शंकराचार्य अभी मुक्तेश्वरानंद महाराज ने दुख प्रकट करते हुए कहा जो इस तरह के आयोजन करते हैं पहले उनको उतने लोगों की व्यवस्था करनी चाहिए उसके बाद ही इस तरह के आयोजन करने चाहिए इस आयोजन में जिन लोगों ने अपनी जान गवाही है मैं उनके प्रति अपना दुख व्यक्त करता हूं और शासन प्रशासन से मांग करता हूं कि ऐसे लोगों पर और ऐसे सरकारी अधिकारियों पर सबसे सख्त कार्रवाई हो जो इस तरह के आयोजनों की अनुमति देते हैं

यह भी पढ़ें 👉  कंट्रीवाइड पब्लिक स्कूल कठायतबाड़ा में अभिभावक संघ का गठन,संजय सिंह खेतवाल बने अध्यक्ष
Share on whatsapp