logo

दफौट संघर्ष समिति का अनश्चितकालीन धरना हुआ शुरू, कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने भी दिया समर्थन

खबर शेयर करें -


दफौट संघर्ष समिति के बैनर तले क्षेत्र के लोगों ने माल्ता में कूड़ा फेंके जाने का कड़ा विरोध किया है। नाराज लोगों ने माल्ता में अनश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया है। यहां हुई सभा में वक्ताओं ने कहा कि जब तक उनकी मांग नहीं मानी जाती वह चुप नहीं बैठेंगे। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अुनसार संघर्ष समिति से जुड़े लोग माल्ता में पहुंचे। यहां कूड़ा हटाओ आंदोलन के तहत धरना शुरू कर दिया। यहां हुई सभा में वक्ताओं ने कहा कि कूड़े के विरोध में क्षेत्र के लोग 2016 से आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन उन्हें हर बार आश्वासन की घुट्टी पिलाई जा रहा है। 11 दिसंबर को उन्होंने जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया था, जिसमें 12 जून तक कूड़े निस्तारण की अनयत्र व्यवस्था करने की मांग की थी, लेकिन प्रशासन ने आश्वासन तो दिया, लेकिन समस्या का समाधान नहीं किया। मजबूर होकर उन्हें अब आंदोलन की राह पर जाना पड़ रहा है। चेतावनी दी कि जब तक उनकी मांग नहीं मानी जाती वह दिन-रात यहीं पर धरना देंगे। इस बीच कोई अप्रिय घटना होती है तो इसकी सारी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। इस मौके पर समिति अध्यक्ष हेमंत बिष्ट, विवेक दफौटी, कुंदन कनवाल, योगेश पांडे, आनंद तिवारी बीडीसी सदस्य, नायल के ग्राम प्रधान संतोष दफौटी, रमेश चंदोला, पावन कुमार, धीरज रावत व बलवंत सिंह आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  राज्य में अवैध खनन पर लगाम लगाने के लिए बड़ा फैसला

कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने दिया आंदोलन को समर्थन


कांग्रेस जिलाध्यक्ष भगवत सिंह डसीला ने भी ग्रामीणों के आंदोलन को अपना समर्थन दिया। आंदोलन स्थल पहुंचकर धरना भी दिया। उन्होंने कहा कि जब पालिका ने पगना में जगह चयनित कर ली है तो वहां ट्रचिंग ग्राउंड जल्द बनााएं। खुले में कूड़ा फेंकने से बीमारी फैलने का खतरा बढ़ गया है।

यह भी पढ़ें 👉  आपदा मद में ₹13 करोड़ की दूसरी किश्त जारी, जिलाधिकारियों को पुलियाओं, पेयजल लाइनों, सिंचाई नहरों की मरम्मत के निर्देश
Share on whatsapp