logo

पहाड़ी राज्य का अस्तित्व खत्म करने का किया जा रहा है काम,हाईकोर्ट को पहाड़ में ही होना चाहिए शिफ्ट : बॉबी पवार

खबर शेयर करें -

उत्तराखंड बेरोज़गार संघ के अध्यक्ष बॉबी पंवार ने जनमिलन कार्यक्रम में बागेश्वर के युवाओं व उनके अभिभावकों के साथ संवाद किया। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवाओं ने बताया कि सरकार ने भर्ती कलेंडर तो बना दिया है, लेकिन इसका पालन नहीं हो रहा है। इससे बेरोजगार खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं। संवाद में आए लोगों ने अपने-अपने क्षेत्र की समस्याएं भी रखी। जंगल की आग से हो रहे नुकसान के बारे में भी बताया।

वही हाईकोर्ट की शिफ्टिंग को लेकर पूछे सवाल पर उन्होंने कहा की पहाड़ी राज्य की परिकल्पना को बनाए रखना सबसे पहला सिद्धांत होना चाहिए। उन्होंने कहा की हाईकोर्ट को पहाड़ के जिले में ही शिफ्ट होना चाहिए। पहाड़ से बाहर मैदानी जिले में डालने का मतलब है की पहाड़ की बात को ही समाप्त करना। अब अपराधियों को भी पहाड़ नही लाने देना चाहते है जनप्रतिनिधि। पहले राजधानी को गैरसैंण से देहरादून किया शिफ्ट अब हाईकोर्ट को भी मैदान में शिफ्ट करने का किया जा रहा है प्रयास

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव खत्म होते ही महंगाई शुरू, आंचल ने बढ़ाये दूध के दाम

बॉबी ने युवाओं से कहा कि वह अपनी मांगों को लेकर एकजुट रहें। किसी भी राजनैतक दलों के बहकावे में न आकर संगठन को मजबूत करें। हम संगठित रहेंगे तो सरकार झुकने को मजबूर होगी। भर्ती कलेंडर का भी पालन होगा। इस दौरान लोक गायिका कमला देवी को भी सम्मानित किया गया। इस मौके पर कुमाऊ संयोजक भूपेंद्र कोरंगा, पूर्व प्रधानाचार्य ख़्याली पांडेय, रमेश कृषक, संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष राम कंडवाल, सचिव नितिन दत्त, कार्तिक उपाध्याय, कमल कोरंगा,अर्जुन देव सहित अन्य लोग शामिल रहे।

यह भी पढ़ें 👉  नदी में डूबने से दंपती की मौत,मार्च में हुए थी शादी
Share on whatsapp