logo

हाथरस में सत्संग के दौरान भगदड़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 116 हुई

खबर शेयर करें -

हाथरस में मंगलवार को बड़ा हादसा हो गया है. सिकंदराराऊ थाना क्षेत्र के गांव फुलरई में आयोजित भोले बाबा के सत्संग में कल भगदड़ मच गई, जिसमें महिलाओं और बच्चों समेत 100 से ज्यादा लोगों के मरने की सूचना मिल रही है. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच के आदेश दिए हैं. डीजीपी और गृह सचिव मौके पर पहुंच कर राहत कार्य का जायजा ले रहे हैं. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने घटना पर दुख जताया है. पीएम मोदी ने भी लोकसभा ने इस हादसे पर दुख जताया है और राज्यसरकार के साथ मिलकर पीड़ितों की हर संभव मदद की बात की है.

यह भी पढ़ें 👉  भूस्खलन से नेपाल में दो बसें त्रिशूली नदी में बहीं, 63 यात्रियों के नदी बहने की सूचना, रेस्क्यू अभियान जारी

बता दें कि हाथरस दुर्घटना की स्थिति की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सीधी मॉनीटरिंग कर रहे हैं. ADG, आगरा और कमिश्नर, अलीगढ़ के नेतृत्व में टीम गठित कर दुर्घटना के कारणों की जांच के निर्देश दिए गए हैं. मुख्यमंत्री ने अगले 24 घंटों में रिपोर्ट मांगी है. मुख्यमंत्री के निर्देश पर मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी और संदीप सिंह घटना स्थल के लिए रवाना हो चुके हैं. मुख्य सचिव व पुलिस महानिदेशक को घटना स्थल रहने के निर्देश हैं.

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून : स्थानांतरण सत्र को लेकर आया नया आदेश, बढ़ गई तारीख

नेता प्रतिपक्ष राहुल गांधी ने भी हादसे पर दुख जताया है. उन्होंने एक्स पर लिखा कि उत्तर प्रदेश के हाथरस में सत्संग के दौरान मची भगदड़ से कई श्रद्धालुओं की मृत्यु का समाचार अत्यंत पीड़ादायक है. सभी शोकाकुल परिजनों को अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की आशा करता हूं. सरकार और प्रशासन से अनुरोध है कि घायलों को हर संभव उपचार एवं पीड़ित परिवारों को राहत उपलब्ध कराएं. INDIA के सभी कार्यकर्ताओं से अनुरोध है कि राहत और बचाव में अपना सहयोग प्रदान करें.

यह भी पढ़ें 👉  बाबा केदार का प्रतीकात्मक मंदिर करोड़ो हिंदुओं की आस्था पर ठेस पहुंचाने का प्रयास: पूर्व अध्यक्ष बद्री केदार समिति
Share on whatsapp