logo

द हंस फाउंडेशन द्वारा वनाग्नि रोकथाम हेतु वृहद स्तर पर चलाया जा रहा जागरूकता कार्यक्रम

खबर शेयर करें -

उत्तराखण्ड के वनों को आग से बचाने के लिए द हंस फाउंडेशन द्वारा वृहद्व स्तर पर जन-जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन कराया जा रहा है। फाउंडेशन द्वारा संचालित वनाग्नि रोकथाम एवं शमन परियोजना के अन्तर्गत वर्ष 2022 के शुरूआत से वनाग्नि रोकथाम हेतु जन सहभागिता को बढ़ाने के लिए कार्य किया जा रहा है। बता दे कि विगत वर्ष से उत्तराखण्ड में सर्दियों में भी वनाग्नि की घटनायें हो रही है, जिसे लेकर वन विभाग द्वारा हाल में ही अलर्ट जारी किया गया है। इसी क्रम में जनपद बागेश्वर के गरुड़ ब्लॉक के राजकीय इंटर कालेज कौलाग में परियोजना के अन्तर्गत फाउंडेशन द्वारा वनाग्नि, पर्यावरण संरक्षण, जन सहभागिता विषय पर निबंध लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। आयोजित प्रतियोगिताओं में स्कूली छात्र-छात्राओं ने बढ़-चढ़कर प्रतिभाग किया तथा संदेश दिया कि वन हमारी बहुमूल्य संपदा है, इनका संरक्षण हमें करना चाहिए तथा वनाग्नि से होने वाले दुष्प्रभावों को भी बच्चों द्वारा अपने लेख के माध्यम से प्रदर्शित किया। द हंस फाउंडेशन द्वारा सभी बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले छात्र – छात्राओं को प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार क्रमसः अमृता आर्या, नेहा जोशी, व वर्षा चिलवाल को प्रमाण पत्र तथा अन्य पुरस्कार भी दिये गये ।

यह भी पढ़ें 👉  आपदा मद में ₹13 करोड़ की दूसरी किश्त जारी, जिलाधिकारियों को पुलियाओं, पेयजल लाइनों, सिंचाई नहरों की मरम्मत के निर्देश

द हंस फाउंडेशन के परियोजना समन्वयक रजनीश रावत ने कहा की फाउंडेशन वन संरक्षण के लिए विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से जन समुदाय को जागरूक कर रही हैं, तथा वनो को आग से बचाने हेतु आम जन मानस से अपील कर रही हैं।

यह भी पढ़ें 👉  राज्य में अवैध खनन पर लगाम लगाने के लिए बड़ा फैसला

स्कूल के प्रधानाचार्य गणेश कुवार्बी,अध्यापकगण,वन बीट अधिकारी चंदन कुमार, ग्रामीणों तथा वन विभाग द्वारा द हंस फाउंडेशन के द्वारा उत्तराखण्ड के वनों को बचाने के लिए किये जा रहे कार्यो की सराहना की तथा कहा कि पर्यावरण संरक्षण हेतु सभी को जागरूक होने तथा प्रयास करने की आवश्यक्ता है। कार्यक्रम में संस्था के ब्लॉक समन्वयक गंगा आर्या व प्रेरक मनीषा जोशी व मौजूद रहे ।

यह भी पढ़ें 👉  नदी में डूबने से दंपती की मौत,मार्च में हुए थी शादी
Share on whatsapp