logo

सिलिंडर फटने से दहला दून, 30 घर स्वाह, बेघर हुए लोग

खबर शेयर करें -

देहरादून : कांवली रोड स्थित गोविंदगढ़ में सिलिंडर फटने से भीषण आग लग गई, जिससे करीब 30 झोपड़ियां जल गईं। तंग गली होने के कारण यहां दमकल वाहन समय पर नहीं पहुंच पाया। इसके बाद फायर टेंडरों से होज पाइप आसपास के मकानों की छतों तक पहुंचाए गए। करीब तीन घंटे बाद आग पर काबू पाया गया। हालांकि, तब तक झोपड़ियों में रखा सारा सामान जल चुका था। आग बुझाने के लिए स्थानीय लोग भी आगे आए। उन्होंने घरों से पानी की बाल्टियां भरकर आग बुझाने में मदद की।

गोविंदगढ़ स्थित एक प्लाट में श्रमिकों ने करीब 30 झोपड़ियां बनाई थीं। इनमें से ज्यादातर यहां परिवार के साथ रहते थे। कुछ मजदूरी और कुछ कबाड़ बीनते थे। जानकारी के अनुसार, श्रमिकों ने झोपड़ियों में खाना बनाने के लिए छोटे सिलिंडर (पेट्रोमैक्स) रखे हुए थे। सोमवार को दोपहर में किसी झोपड़ी में सिलिंडर फट गया, जिससे उसमें आग लग गई। सभी झोपड़ियां एक साथ लगी हैं, इस कारण आग अन्य झोपड़ियों में भी पहुंची और वहां रखे सिलिंडर भी फट गए। जिससे आग ने विकराल रूप ले लिया। आसपास के लोग सबसे पहले मदद के लिए दौड़े। इसी बीच पुलिस और दमकल विभाग को भी सूचना दी गई। पुलिस और स्थानीय लोगों ने झोपड़ियों में फंसे बच्चों व महिलाओं बाहर निकालकर सुरक्षित स्थान तक पहुंचाया।

यह भी पढ़ें 👉  बागेश्वर: सीबीएसई बोर्ड 12वीं और 10वी के परीक्षा परिणाम में कंट्री वाइड पब्लिक स्कूल बागेश्वर के छात्रों का शानदार प्रदर्शन

इस बीच आग इतनी फैल गई कि आसपास के पक्के मकानों तक पहुंचने लगी। इस पर स्थानीय लोगों ने घरों की छतों से बाल्टियों में पानी भरकर डाला, लेकिन आग फिर भी नहीं बुझी। तब तक दमकल कर्मी भी पहुंच गए और फायर टेंडरों से होज पाइप के जरिये आग बुझाना शुरू किया। करीब तीन घंटे बाद आग पर काबू पाया जा सका। तब तक श्रमिकी झोपड़ियां और सामान पूरा जल चुका था।
एसएसपी अजय सिंह के अनुसार, आग के कारण कोई जनहानि नहीं हुई है, लेकिन झोपड़ियों में रहने वाले परिवारों का सारा घरेलू सामान जल गया। आग लगने के कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाए हैं। इसकी जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें 👉  मासूम को घर के आंगन से उठा ले गया गुलदार, वन विभाग की टीम बच्चे की खोजबीन में जुटी

आग लगने से प्रभावित परिवारों की सूची

– आशा देवी पत्नी संजय साहनी व उनके तीन बच्चे

– लक्ष्मी साहनी पत्नी नरेश साहनी उनके चार बच्चे

– राजो देवी व उनके चार बच्चे

– पूजा देवी पत्नी विजय साहनी व उनके चार बच्चे

– सीताराम साहनी पुत्र किशन साहनी

– संतोष साहनी पुत्र बृजकिशोर साहनी उनके छह बच्चे

– शोभा देवी पत्नी मनोज साहनी उनके दो बच्चे

– ललिता देवी पत्नी रामबली साहनी उनके पांच बच्चे

– पुनीता देवी पत्नी विजय साहनी उनके बच्चे

– लाला साहनी उनके चार बच्चे

– पूनम देवी व उनके तीन बच्चे

– रेखा देवी पत्नी विनोद साहनी

– बबीता देवी पत्नी संतोष साहनी उनके बच्चे

– राजकुमारी देवी पत्नी राजू साहनी उनके तीन बच्चे

– रविंदर साहनी पुत्र भोला साहनी उनके दो बच्चे

यह भी पढ़ें 👉  सड़क कटान से लेकर डामरीकरण तक की गुणवत्ता पर खाती के ग्रामीणों ने उठाए सवाल, किया प्रर्दशन
Share on whatsapp