logo

नैनीताल के राजेन्द्र प्रसाद आर्य और उर्मिला रैसवाल को विद्या वाचस्पति सारस्वत सम्मान से किया गया सम्मानित

खबर शेयर करें -

पंडित दीनदयाल उपाध्याय हिन्दी विद्या पीठ मथुरा उत्तर प्रदेश के द्वारा मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कराए गए राष्ट्रीय स्तर के “विद्या वाचस्पति सारस्वत सम्मान” की डॉक्टरेट की मानद उपाधि के कार्यक्रम में देश भर के विभिन्न राज्यों के 47 लोगों को डॉक्टर की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया। जिसमें उत्तराखण्ड के सबसे अधिक 5 लोगों को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया। इसमें डॉक्टर परितोष मिश्रा ( काशीपुर), श्रीमती ममता जोशी( देहरादून) एवम् श्रीमती साधना जोशी( उत्तरकाशी) हैं तथा नैनीताल से दो लोग श्री राजेन्द्र प्रसाद आर्य और उनकी धर्मपत्नी श्रीमती उर्मिला रैसवाल को भी यह सम्मान प्राप्त करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ, दोनों पति पत्नी अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता-पिता, गुरु एवम् मित्रगणों को देते हैं।

इस सम्मान समारोह में श्री देवेन्द्र कुमार जैन न्यायधीश मध्य प्रदेश सरकार, श्री विष्णुकांत कनकने प्रभारी मुख्यमंत्री उदयमान योजना तकनीकी शिक्षा मध्य प्रदेश, श्री डॉo इंदु भूषण मिश्रा कुलपति पंडित दीनदयाल उपाध्याय हिन्दी विद्या पीठ, सुश्री दीपा मिश्रा जी सुप्रसिद्ध कथा वाचक मथुरा, श्री डॉo विश्वनाथ परिग्रही पर्यावरण विद् छत्तीसगढ़ आदि विशेषज्ञ शामिल हुए।


डॉक्टर उर्मिला रैसवाल ने बताया कि बचपन से ही उन्हें हिन्दी कविता लेखन में रुचि थी मगर वह डायरी तक ही सीमित रही। पति के द्वारा प्रोत्साहित करने पर उर्मिला जी ने ई-पत्रिका में अपने लेख प्रकाशित करने शुरू किये। सामाजिक कार्यों में रुचि होने के कारण उन्होंने अपनी शॉप “सिद्धिशा कलेक्शन” के नाम से महिलाओं और बच्चों के लिए कई कार्यक्रम आयोजित किए। भविष्य में भी वह इस कार्य को जारी रखेंगीं।अपनी इस उपलब्धि का श्रेय उर्मिला जी अपने माता-पिता, गुरु, भाई-बहन, मित्र और अपने पति को देती हैं।

डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद आर्य ने बताया कि उन्होंने 13 वर्षों तक दूरस्त नेपाल से सटे हुए सीमांत गाँवों में कार्य करते समय ही बालिकाओं की शिक्षा पर कई कार्य किए। जिसके बाद वहाँ के अभिभावकों ने अपनी बालिकाओं को स्कूल भेजना जरूरी समझा और स्कूल में शिक्षा का स्तर बढ़ने लगा। अपनी इस उपलब्धि का श्रेय वह अपने माता पिता, गुरु, सभी मित्रगण और अपनी पत्नी को देते हैं। आगे भी वह इसी तरह कार्य करते रहेंगे ।

यह भी पढ़ें 👉  कपकोट में पिकप वाहन गिरा खाई में एक की मौत
Share on whatsapp