logo

बेटो के जन्म पर भी मिलेगी महालक्ष्मी किट,जल्द शुरू की जाएगी योजना-रेखा आर्या

खबर शेयर करें -

बेटी के जन्म को सकारात्मक बनाने के लिए शुरू की गई है महालक्ष्मी किट-रेखा आर्या

महिला बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने पोषण माह के तहत वितरित कीं महालक्ष्मी किट,गर्भवती महिलाओं की कराई गोद भराई

देहरादून: आज प्रदेश की महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने ऑफिसर्स क्लब,यमुना कॉलोनी,देहरादून में राष्ट्रीय पोषण माह के अंतर्गत आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत किया जहां कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया। इस दौरान मंत्री रेखा आर्या ने गर्भवती महिलाओं की गोद भराई कराई और कुपोषित महिलाओं को पोषण किट का वितरण किया।साथ ही लाभान्वित महिलाओं को मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट भी वितरित किए।

विभागीय मंत्री ने कहा कि गर्भवती महिलाओं को सहयोग देने व बेटी के जन्म को सकारात्मक बनाने के लिए महालक्ष्मी किट शुरू की गई है।बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के समान महालक्ष्मी किट व नंदा गौरा योजना लिंग अनुपात बेटियों/ महिलाओं के हित में करने का प्रयास है।कहा कि मुझे यह बताते हुए भी बेहद खुशी है कि आने वाले समय मे हम महालक्ष्मी किट जो कि बेटी होने पर दी जाती है इसे बेटा होने पर भी महिला को दिया जाएगा जो कि जल्द शुरू की जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड तेजी से उभरता हुआ डेस्टिनेशन: सीएम धामी

साथ ही कहा कि इस वर्ष का राष्ट्रीय पोषण माह का विषय ‘सुपोषित भारत, साक्षर भारत, सशक्त भारत’ है। उन्होंने कहा कि पोषण माह के तहत स्तनपान, पूरक आहार, स्वस्थ बालक स्पर्धा, पोषण भी पढ़ाई भी, मेरा माटी मेरा देश, मिशन लाइफ माध्यम से पोषण में सुधार, आयुर्वेद के माध्यम से स्वस्थ जीवन इत्यादि कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।उन्होंने कहा कि प्रदेश के आंगनवाड़ी केन्द्रों में भी सामुदायिक आधारित गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है।इन गतिविधियों में गोद भराई तथा अन्न्प्राशन इत्यादि आयोजित की जा रही है जिसके तहत राष्ट्रीय पोषण माह में आगंनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा पोषण अभियान भी चलाया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  एनयूजे सदस्यो ने सिलक्यारा टनल में फंसे मजदूरों के सकुशल रेस्क्यू के लिए जागेश्वर धाम में की पूजा अर्चना

मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य कुपोषित बच्चों की पहचान करना है और अगर कोई कुपोषण के दायरे में है तो उनके अभिभावकों को उचित आहार के बारे में जागरूक किया जाना है, ताकि सभी बच्चे कुपोषण के दायरे से बाहर आ सके। इसके साथ-साथ आंगनबाड़ी बहने घर घर जाकर भी सभी लोगों को कुपोषण से बचने के उपाय के बारे में जागरूक कर रही है। बताया कि यह पोषण माह एक अक्तूबर तक जारी रहेगा, जिसके तहत विभिन्न क्रिया कलाप चलाए जाएंगे।

यह भी पढ़ें 👉  सीएम धामी ने सिलक्यारा टनल से रेस्क्यू किए मजदूरों को स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर दी एक - एक लाख की सहायता राशि

इस अवसर पर निदेशक श्री प्रशांत आर्य जी,उपनिदेशक श्री विक्रम सिंह जी,मुख्य परिवीक्षा अधिकारी श्री मोहित चौधरी जी,डीपीओ श्री जितेंद्र कुमार जी,सीडीपीओ मुख्यालय श्रीमती तरुणा चमोला जी,पार्षद श्रीमती सुमित्रा ध्यानी जी सहित विभागीय अधिकारीगण और लाभान्वित महिलाएं उपस्थित रहीं।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Share on whatsapp