logo

चर्बी से नकली घी बनाने वाले चार आरोपियों को किया गिरफ्तार

खबर शेयर करें -

उधमसिंहनगर पुलिस ने जानवरों की चर्बी से नकली घी बनाने के कारोबार का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने मौके से 205 कनस्तर नकली घी बरामद करने के साथ ही चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलभट्टा पुलिस ने सिरौलीकलां गांव में एक पिकअप और गोदाम से चर्बी को पिघलाकर बनाया 205 कनस्तर घी बरामद किया। मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। एसएसपी ने बताया कि आरोपी दरऊ, कल्याणपुर, टांडा, चारबीघा आदि जगहों से गाय और भैंस की चर्बी को खरीदते थे और फिर उससे घी तैयार कर हापुड़ के अलावा स्थानीय दुकानदारों को बेचते थे।

यह भी पढ़ें 👉  बागेश्वर का मयूँ गांव बनेगा पीपल - वट विवाह का गवाह

एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर पुलभट्टा एसओ कमलेश भट्ट के नेतृत्व में टीम ने ग्राम सिरौलीकलां से एक पिकअप से 200 और गोदाम से पांच कनस्तर चर्बी से बना घी बरामद किया है। कनस्तरों में बड़ी कंपनी के चिट लगी थीं। टीम ने एक बड़ा इलेक्ट्रानिक तराजू भी बरामद किया। मामले में इकबाल साबरी निवासी वार्ड 12 किच्छा, नईम कुरैशी निवासी वार्ड 15 किच्छा, पीपलसाना थाना भोजपुर जिला मुरादाबाद निवासी यासीन मलिक और मो. आलम को गिरफ्तार किया गया है। चारों के खिलाफ उत्तराखंड गोवंश संरक्षण अधिनियम की विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  कपकोट में बढ़ते नशे के कारोबाार पर एनएसयूआई ने कड़ी आपत्ति जताते हुए,कार्यवाही की करी मांग

पुलिस के अनुसार गाय और भैंस की चर्बी से तैयार नकली घी बाजार में 1000 रुपये प्रति कनस्तर की दर से बेचा जाता था। बरामद माल की कीमत 2.05 लाख आंकी गई है। पुलिस के अनुसार आरोपियों की चर्बी से बने घी को त्योहारी सीजन में स्थानीय बाजार में खपाने की योजना थी। एसएसपी मंजूनाथ टीसी के मुताबिक आरोपियों द्वारा जिन स्थानीय दुकानदारों को यह घी देने की बात कही जा रही है उनकी भी जांच कराई जाएगी। घी के सैंपल परीक्षण के लिए एफएसएल भेजे जाएंगे।

यह भी पढ़ें 👉  बदरीनाथ धाम के खुले कपाट,उमड़ा आस्था का सैलाब,नारायण के जयकारों से गूंज उठी बदरीशपुरी
Share on whatsapp